न्यूज़ विश्लेषण – बिहार और उत्तर प्रदेश विशेष कवरेज के साथ

जरूर पढ़ें: जिन किसानों के लिए चंपारण सत्याग्रह मनाया जा रहा उन किसानों की व्यथा सुने कौन ?

  आज चंपारण के लिए बेहद ऐतिहासिक दिन है. आज के दिन कितना खास इस बात से समझा जा सकता

Read more

फाइनेंसियल बिल, राजनितिक पार्टियों की मौज, भर्ष्टाचार का नया अड्डा

-Savpriya Sangwan अभी एक नया फाइनेंस बिल बनाया है सरकार ने। अब तक जो कंपनियां पार्टियों को चंदा देती थी,

Read more

आइये लेते है यूपी के नए सीएम आदित्यनाथ की वेबसाइट का जायज़ा

  – रवीश कुमार http://www.yogiadityanath.in क्लिक करते ही गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ का इंटरनेटी संसार खुलता है। पहले पन्ने

Read more

गुरमेहर कौर को अकेला छोड़ दो। राष्ट्रवाद के शोर में विविधता को बचाना मुश्किल

लेखक: मंजर आलम   यूनवर्सिटी में हुई विवाद ने एकबार फिर राष्ट्रीय स्तर पर इस बात का चर्चा हो रहा है

Read more

डियर ट्रोल, मेरा पीछा कर कुछ नहीं मिलेगा- रवीश

    ट्रोल लगता है कि नोटबंदी के कारण पेमेंट के इंतज़ार में घर बैठ गए हैं। आईटी सेल वालों

Read more

गण के लिये कितना असरदार है यह तंत्र, वंचित वर्ग की बात करना सबसे जरूरी- मंजर आलम

  भारत आज अपने 68वें गणतंत्र में प्रवेश कर रहा है। 1950 के उस दौर से बहुत आगे निकल आया

Read more

रवीश ने दिया हैकरों को जवाब- हम फ़कीर नहीं हैं कि झोला लेकर चल देंगे..

एनडीटीवी के सीनियर जर्नलिस्ट रवीश कुमार और बरखा दत्त के ट्विटर अकाउंट को हैक कर लिया है। यह हैकर्स ग्रुप

Read more

आधी आबादी को छोड़, डिजिटल ‘असुरक्षा’ के दौर में कैशलेस की कामयाबी का जश्न कैसा ?

  लेखक: मंजर आलम आठ नवंबर को विमुद्रीकरण (आम भाषा में नोटबंदी) के ऐलान के बाद से वित्त मंत्रालय ने

Read more

टैगोर के नजरिये से देश प्रेम Vs मानवता

  लेखक: रवीश कुमार आख़िर टैगोर के लिए राष्ट्रवाद क्यों ग्लास जितनी सस्ती है, जिसे वो मानवतावाद के बेशकीमती हीरे

Read more

क्या निशाना लगाना चाहते हैं नोटबंदी से नीतीश कुमार

8 नवंबर की रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद करने की घोषणा ने

Read more
Facebook